Skip to content

What is Biggest Bank Scam in India?- (ABG Shipyard Scam)

What is Biggest Bank frauds in India?

भारत में सबसे बड़ा बैंक फ्रॉड: (ABG Shipyard Scam) देश में अब तक का सबसे बड़ा स्कैम ABG Shipyard और ABG International Private Limited द्वारा 22,842 करोड़ का फ्रॉड किया गया है, जो दोनों एक ही ग्रुप का कंपनी हैl डेढ़ साल से अधिक समय तक “जाँच” करने के बाद सीबीआई द्वारा 7 अप्रैल 2022 को प्राथमिकी दर्ज करने वाली शिकायत पर कार्रवाई कीl किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का अहम हिस्सा बैंक पर ही निर्भर करता हैl आम आदमी अपनी कमाई का छोटी-बड़ी बचत बैंक में संग्रह करते है, ताकि भविष्य में किसी कठिनाइयों का सामना न करना पड़ेl आप अपनी जीवन का आधा से ज्यादा पैसा बैंक में जमा किए और एक दिन अचानक पता चले कि बैंक डूब गयाl क्या असर होगा आप परl आप खुद समझते होंगेl

एबीजी शिपयार्ड की शुरुआत: ABG Shipyard की शुरुआत 1985 में हुई थीl इसने 2005 में अपना आईपीओ पेश किया थाl यह कंपनी शिप बनाने की काम करती हैl गुजरात में दहेज़ और सूरत में शिप बिल्डिंग फैसिलिटी हैl शिप बिल्डिंग की क्षमता को देखते हुए सरकार ने इस कंपनी को इंडियन नेवी और कास्ट गार्ड के लिए भी शिप बनाने की इजाजत दी थीl शिप बनाने की आर्डर इसे पुरे दुनिया से मिलते थेl 2012 के बाद इस कंपनी की हालात बिगड़ने लगीl E & Y की 2012 से 2017 की ऑडिट रिपोर्ट में बताया गया है कि कंपनी ने बैंकों से लोन लेकर उसका इस्तेमाल अपनी दूसरी कंपनियों के लिए कियाl लोन के पैसे से प्रॉपर्टी खरीदने के भी सबूत मिले हैl

कंपनी का बिजनेस कैसे डूबा: ABG Shipyard कंपनी का भ्रष्टाचार का असर इसके बिजनेस पर पड़ने लगाl इस कारण से बैंकों का लोन बढ़ता गया और आमदनी घटती गईl कार्गो की डिमांड घटने से  इसके बुरे दिन शुरू हो गएl शिप बनाने के जीतने भी आर्डर इस कंपनी को मिले थे, सब के सब कैंसिल होने लगेl इस कारण से सरकार ने भी इस कंपनी को आर्डर देने बंद कर दिएl कंपनी पर दबाव के कारण 2013 में कंपनी के एकाउंट्स को नॉन-परफोर्मिंग एसेट घोषित कर दिया गयाl  पुनः 2017 में इसके लोन की रीस्ट्रक्चरिंग की गई, लेकिन कंपनी का कारोबार आगे बढ़ने में नाकाम रहाl फिर, ABG Shipyard का मामला National Company Law Tribunal (NCLT) को भेज दिया गयाl

क्या है मामला: भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के डीजीएम ने गुजरात के कई कंपनियों पर 22,842 करोड़ के फ्रॉड का आरोप लगाया हैl आपको बता दे कि ABG Shipyard और उसकी फ्लैगशिप कंपनी जहाज का निर्माण और उसके मरम्मत का कार्य करती हैl भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की अगुवाई वाले बैंकों के एक संघ ने कथित रूप से ABG Shipyard कंपनी के खिलाफ़ 28 बैंकों से 22,842 करोड़ से अधिक रूपये के धोखाधड़ी के मामले में FIR दर्ज कराया हैl सीबीआई ने ABG Shipyard और उसके तत्कालीन अध्यक्ष व मैनेजिंग डायरेक्टर ऋषि कमलेश अग्रवाल के अलावा संथानम मुथास्वामी, अश्वनी कुमार, सुशील कुमार अग्रवाल और रवि विमल नेवेतिया तथा ABG इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के खिलाफ़ भी कथित रूप से अपराधीक साजिश, धोखाधड़ी, विश्वाघात और अधिकारिक दुरुपयोग जैसे अपराधों के लिए मुक़दमा दर्ज कियाl फोरेंसिक ऑडिट से पता चला है कि वर्ष अप्रैल 2012 से जुलाई 2017 के बीच इन कंपनियों ने मिलीभगत कर अवैध गतिविधियों को अंजाम दियाl बैंक ने सबसे पहले 8 नवम्बर 2019 को FIR दर्ज कराई थी, जिस पर सीबीआई ने 12 मार्च 2020 को ABG शिपयार्ड से कुछ स्प्ष्टीकरण माँगा थाl बैंक ने उसी साल अगस्त में एक नई FIR पुनः दर्ज कराई थीl डेढ़ साल से अधिक समय तक “जाँच” करने के बाद सीबीआई ने 7 फ़रवरी 2022 FIR दर्ज करने वाली शिकायत पर कार्रवाई कीl

कौनकौन बैंक है शामिल: ABG Shipyard कंपनी द्वारा State Bank of India से 2925 करोड़ रूपये के कर्ज लिया गया था, जबकि ICICI बैंक से 7089 करोड़, IDBI बैंक से 3634 करोड़, Bank of Baroda से 1614 करोड़, Punjab National Bank से 1244 करोड़ और Indian Overseas Bank से 1228 करोड़ का कर्ज लियाl बैंकों के साथ-साथ LIC को भी 136 करोड़ रूपये का चुना लगा दियाl

ABG Shipyard Share Price: अभी 1.12 रूपए चल रहा हैl यह नवम्बर 2007 में 1045 रूपए का हाई लगाया हैl

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.