एक नजर दुनियाँ के इस रिपोर्ट पे असुरक्षित राज्य के रिपोर्ट का हाल क्या हैl

एक नजर दुनियाँ के इस रिपोर्ट पे असुरक्षित राज्य के रिपोर्ट का हाल क्या हैl

महिलाओं की सुरक्षा का मुद्दा कहां है. बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान तो चला दिया लेकिन बेटियों को सुरक्षा कौन देगा. 2015 में देश भर में बलात्कार के 34,000 से ज्यादा मामले सामने आए. 2016 में यह संख्या बढ़कर 34,600 के पार चली गई. 2017 में भी देश के तमाम कोनों से आए दिन सामूहिक बलात्कार की खबरें आईं.
एक नजर दुनियाँ के इस रिपोर्ट पे दिल्ली का हाल.

सबसे सुरक्षित शहर:- महिलाओँ के खिलाफ होने वाले यौन अपराधों के खतरों के मामले में टोक्यो सबसे सुरक्षित शहर के तौर पर सामने आया. दिल्ली की तुलना में यौन अपराधों के मामले में पाकिस्तान के कराची शहर को बेहतर माना गया.

स्वास्थ्य के मामले में भी बुरी हालत:- दिल्ली की मातृ मृत्यु दर पर नियंत्रण सहित स्वास्थ्य सेवाओं के लिए महिलाओं की पहुंच को लेकर भी स्थिति खराब है. दिल्ली फिर से नीचे से पांचवें स्थान पर है, जो लाओस से भी नीचे है, जबकि लंदन एक बार फिर शीर्ष पर रहा.

आर्थिक मामलों में भी खराब:- महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा के मामलों के अलावा आर्थिक स्त्रोत जैसे शिक्षा, जमीन में हिस्सा, बैंक अकाउंट आदि में भी महिलाओं की हिस्सेदारी को लेकर भी दिल्ली को नीचे से तीसरा स्थान मिला. इस सूची में लंदन सबसे बेहतरीन अंकों के साथ पहले पायदान पर रहा.

सबसे खतरनाक शहर:- इस लिस्ट में दुनिया का सबसे खतरनाक शहर के तौर पर मिस्र के काहिरा का नाम सामने आया. वहीं महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा के मामलों में पाकिस्तान का कराची शहर दुनिया का दूसरा सबसे भयानक महानगर साबित हुआ.

बांग्लादेश से भी पिछड़ा:- महिलाओं की सुरक्षा के मामले में दिल्ली की स्थिति बांग्लादेश के ढाका से भी बदतर निकली. सर्वे के नतीजों में ढाका को सातवां स्थान मिला वहीं लाओस को आठवां स्थान मिला.

बलात्कार, यौन अपराधों और उत्पीड़न:- दिल्ली दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला दूसरा सबसे बड़ा महानगर है. इसकी आबादी लगभग 2 करोड़ 60 लाख है. इस सर्वे में बलात्कार, यौन अपराधों और उत्पीड़न के मामलों में दिल्ली को बेहद खराब स्थान मिला. नतीजों में दिल्ली दुनिया का चौथा सबसे भयानक महानगर साबित हुआ.

खतरनाक शहर:- जून से जुलाई 2017 के बीच दुनिया के 19 महानगरों में यह सर्वे कराया गया था. दिल्ली में हुये निर्भया गैंगरेप की पांचवी बरसी से ठीक दो महीने पहले एक बार फिर सामने आया है कि दिल्ली महिलाओं के लिए दुनिया का सबसे खतरनाक शहर है.

एक नजर रिपोर्ट पे

10 भारत के सबसे असुरक्षित राज्य के रिपोर्ट पे नजर.
1. मेघालय:- जनजाति बहुल मेघालय को भी इस स्केल पर 0.50 अंक दिये गये हैं.
2. राजस्थान:- सूची में राजस्थान को 0.497 अंक दिये गये हैं. राज्य के ग्रामीण इलाकों में अब भी तमाम रूढ़िवादी प्रथायें लागू हैं.
3. असम:- असम और ओडिशा के अंकों में कोई खास अंतर नहीं है लेकिन असम तब भी ओडिशा से बेहतर माना गया है.
4. ओडिशा:- तटवर्ती राज्य ओडिशा में भी हालात बहुत बेहतर नहीं है. इसे 0.479 अंक मिले हैं.
5. मध्य प्रदेश:- बीमारु राज्य की श्रेणी में रहने वाले मध्य प्रदेश को इस सर्वे में 0.463 अंक दिये गये हैं.
6. अरुणाचल प्रदेश:- पड़ोसी देश चीन के साथ सीमा साझा करने वाला अरुणाचल भी 0.450 अंकों के साथ सूची में नीचे से पांचवें स्थान पर है.
7. झारखंड:- संसाधन संपन्न झारखंड महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है. इसे महज 0.44 अंक मिले हैं.
8. उत्तरप्रदेश:- देश की सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश को 0.433 अंक मिले हैं.
9. दिल्ली:- राष्ट्रीय राजधानी का सूची में नीचे से दूसरा स्थान है. इसे 0.430 अंक मिले हैं.
10. बिहार:- सूची में सबसे नीचे हैं बिहार. 0 से 1 की स्केल पर बिहार को 0.41 अंक मिले हैं.

इसे शेयर जरूर करें